गुर्जरों का पटरियों पर पड़ाव, 4 मार्ग बाधित

26/12/2010 17:34

गुर्जरों का पटरियों पर पड़ाव, 4 मार्ग बाधित राजस्थान में पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे गुर्जरों ने दिल्ली-मुम्बई मार्ग पर पीलूपुरा। जयपुर-दिल्ली मार्ग पर बांदीकुई। भीलवाड़ा में मांडल। जयपुर-रतलाम मार्ग पर निवाई में पटरियों पर पड़ाव डाल कर रेलगाड़ियों का आवागमन बाधित कर रखा है। इस बीच गुर्जर नेताओं और बयाना गये तीन अधिकारियों के बीच बातचीत शुरू होने की उम्मीद है।


सरमथुरा जा रही ट्रेन को रोका
धौलपुर जिले में मुहारी स्टेशन के पास कुहावनी में आज सुबह गुर्जरों ने नेरोगेज ट्रैक पर पत्थर डाल कर धौलपुर से सरमथुरा जा रही ट्रेन को रोक दिया। करीब पौन घंटे बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर पत्थरों को ट्रैक से हटा कर पैसेंजर ट्रेन को रवाना करवाया। दिल्ली से दक्षिण भारत को जोडने वाले रेलवे ट्रैक पर धौलपुर जिले में गुर्जरों के रेलगाडियों का आवागमन बाधित करने की आशंका के मद्देनजर जिला कलक्टर ने कल शाम से जिले में निषेधाज्ञा लागू कर दी है। सूत्रों ने बताया कि कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिए प्रशासन ने अर्द्धसैनिक बलों की पांच कम्पनियां भेजने को कहा है ।

जयपुर-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग बंद
रोडवेज के प्रवक्ता ने बताया कि जयपुर-आगरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर आज भी बसों का संचालन बंद रहा। इस मार्ग पर दौसा तक बसों को चलाया जा रहा है। जयपुर-कोटा मार्ग पर हिण्डौली कस्बे में गुर्जरों के रास्ता जाम कर देने से इस मार्ग पर बसों को उनियारा होते हुए चलाया जा रहा है। इसके अलावा बयाना से हिण्डौन होते हुए करौली चलने वाली बसें बंद हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत स्थिति पर नजर बनाये हुए हैं। बीती देर रात समीक्षा बैठक के बाद आज सुबह भी मुख्यमंत्री कार्यालय में श्री गहलोत की अध्यक्षता में हुई उच्च स्तरीय बैठक में आंदोलन की समीक्षा की गयी। 

बातचीत कर आंदोलन को समाप्त करें
मुंख्यमंत्री ने गुर्जर नेताओं से फिर अपील की है कि आरक्षण मुद्दे पर बातचीत करके आंदोलन को समाप्त करें । सूत्रों ने बताया कि जयपुर से बयाना गये तीन वरिष्ठ अधिकारियों से आज दोपहर बाद गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक कर्नल किरोडी सिंह बैंसला और अन्य नेताओं की बातचीत होने की उम्मीद है। सूत्रों ने बताया कि ऊर्जा मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह दोपहर बाद बातचीत को आगे बढ़ाने के लिए बयाना जा सकते हैं । इस बीच गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रवक्ता ने संकेत दिये हैं कि कर्नल बैंसला दोपहर बाद राज्य सरकार के तीन वरिष्ठ अधिकारियों की समिति से बातचीत कर सकते हैं लेकिल वे सरकार की ओर से कुछ ठोस आश्वासन चाहते हैं 


© 2011All rights reserved for Dwarkeshvyas