इस्लाम

 सहाबा और अबू बक्र सिद्दीक़ के नेतृत्व के बारे में अह्ले सुन्नत का मत आप के इस कथन का क्या प्रमाण है कि इमाम अली रज़ियल्लाहु अन्हु पैग़म्बर मुहम्मद सल्लल्लाहु अलैहि व सल्लम के बाद नेता नहीं बन सकते थे? हर प्रकार की प्रशंसा और स्तुति अल्लाह के लिए है। पहला : अह्ले सुन्नत व जमाअत के सिद्धांतों में...
 अमल सालेह (सत्कर्म) की शर्तें अल्लाह तआला बन्दे के अमल को कब स्वीकार करता है ? और अमल के अंदर किन शर्तों का पाया जाना चाहिए ताकि वह सालेह (नेक) और अल्लाह के पास स्वीकृत हो सके ? हर प्रकार की प्रशंसा और स्तुति अल्लाह के लिए योग्य है। अल्लाह की प्रशंसा और स्तुति के बाद : कोई भी कार्य इबादत...
 इस्लाम धर्म के गुण मुसलमान लोग यह गुमान क्यों करते हैं कि उन्हीं का धर्म सच्चा है? क्या उनके पास इसके संतोषजनक कारण हैं? हर प्रकार की प्रशंसा और स्तुति अल्लाह के लिए योग्य है। प्रिय प्रश्नकर्ता, शुभ प्रणाम के बाद, पहले पहल तो आप का प्रश्न एक ऐसे व्यक्ति की तरफ से जो इस्लाम धर्म में प्रवेश...
 अल्लाह तआला बन्दे के अमल को कब स्वीकार करता है? अमल के नेक होने और अल्लाह के यहाँ मक्बू़ल (स्वीकृत) होने की क्या शर्तें हैं? हर प्रकार की प्रशंसा और स्तुति अल्लाह के लिए योग्य है। अल्लाह की प्रशंसा और स्तुति के बादः कोई भी अमल उस समय तक इबादत नहीं होती है जब तक कि उस में दो चीज़ें पूर्णतः न...
 पोर्क के निषिद्ध होने का क्या कारण है ? मैं माल्टा में रहने वाला एक अरब मूल का व्यक्ति हूँ, मैं सुअर के मांस के निषिध होने का कारण जानना चाहता हूँ, क्योंकि मेरे साथ काम करने वाले दोस्तों ने मुझ से इसके बारे में पूछा है।   हर प्रकार की प्रशंसा और गुणगान अल्लाह तआला के लिए योग्य है...
 इसलाम में इबादत की शर्तें इसलाम में सही इबादत की शर्तें क्या हैं ?   हर प्रकार की प्रशंसा और गुणगान  केवल अल्लाह के लिए योग्य है। धर्मशास्त्री शैख मुहम्मद बिन सालेह बिन उसैमीन रहिमहुल्लाह फरमाते हैं : सर्वप्रथमः इबादत अपने सबब (कारण) के अंदर शरीअत के अनुकूल हो। अतः यदि कोई...
भूकंपों की अधिकता के कारण कई सारे देश जैसे कि : तुर्की, मेक्सिको, ताईवान, जापान, और अन्य देश ... भूकंप से ग्रस्त हुए हैं तो क्या ये किसी बात के संकेतक हैं ? हर प्रकार की प्रशंसा और गुणगान अल्लाह के लिए योग्य है, तथा दया और शान्ति अवतरित हो अल्लाह के पैगंबर, आप के परिवार, आप के साथियों और आप के...

News

This section is empty.

Poll

सीबीआई को काम करने दीजिए

yes (1,423)
no (9)

Total votes: 1437

News

24/11/2010 21:08
 पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 26 नवंबर को अपने दूसरे कार्यकाल के लिए पद एवं गोपनीयता की शपथ लेंगे। सीएम हाउस से जुड़े सूत्रों के अनुसार नीतीश कुमार 26 नवंबर को गांधी मैदान में आयोजित होने वाले एक समारोह में शपथ लेंगे।  उल्लेखनीय है कि बिहार चुनाव में अब तक मिले रूझानों और परिणामों में नीतीश कुमार की बंपर वापसी हुई है। इससे पहले नीतीश कुमार बुधवार को राजभवन पहुंचे और उन्होंने अपना  इस्तीफा राज्यपाल देवानंद कुंवर को सौंपा।
Items: 29 - 29 of 33
<< 27 | 28 | 29 | 30 | 31 >>