astrology jitendra vyas ज्योतिष

संतान योग---ज्योतिष

 संतान योग---ज्योतिष
 कुण्डली का पांचवा घर संतान भाव के रूप में विशेष रूप से जाना जाता है (The fifth house of the Lal Kitab stands for progeny). ज्योतिषशास्त्री इसी भाव से संतान कैसी होगी, एवं माता पिता से उनका किस प्रकार का सम्बन्ध होगा इसका आंकलन करते हैं.  इस भाव में स्थित ग्रहों को देखकर व्यक्ति स्वयं भी...

—————

क्‍या है कालसर्प योग?

क्‍या है कालसर्प योग?
 क्‍या है कालसर्प योग? प्राचीन भारतीय ज्‍योतिष में सर्प योग बताया गया है। इस योग का अर्थ है कि कुण्‍डली में सात ग्रह राहू और केतु के एक ओर आ गए हैं। फर्ज कीजिए मेष में राहू है और तुला में केतु इसके साथ सारे ग्रह मेष से तुला या तुला से मेष के बीच हों। इसे सर्प योग कहा जाएगा। ऐसा माना गया है...

—————

किस भाव से क्‍या देखेंगे – कारक

किस भाव से क्‍या देखेंगे – कारक
  किस भाव से क्‍या देखेंगे – कारक   कारक विचार फलादेश की सबसे महत्‍वपूर्ण कड़ी है। कई बार जातक जब समस्‍या बताता है तो नए ज्‍योतिषियों को पता ही नहीं चलता है कि इसे किस भाव या ग्रह से देखें। ऐसे में जितने कारक फौरी तौर पर ध्‍यान में होते हैं, उन्‍हीं के अनुसार ज्‍योतिषी निष्‍कर्ष पेश...

—————


इतने महान थे आर्यभट ...मात्र 23 साल की उम्र में रच डाला ज्‍योतिष का सबसे वैज्ञानिक ग्रंथ...।

मात्र 23 साल की उम्र में रच डाला ज्‍योतिष का सबसे वैज्ञानिक ग्रंथ... इतने महान थे आर्यभट।

मात्र 23 साल की उम्र में रच डाला ज्‍योतिष का सबसे वैज्ञानिक ग्रंथ... इतने महान थे आर्यभट।
  मात्र 23 साल की उम्र में रच डाला ज्‍योतिष का सबसे वैज्ञानिक ग्रंथ... इतने महान थे आर्यभट।   प्राचीन भारत के महान खगोलविद व गणितज्ञ  आर्यभट के बारे में काफी कुछ कहा जाता है और लिखा जाता है, लेकिन सच्‍चाई यह है कि उनके बारे में प्रामाणिक तौर पर बहुत कम जानकारी उपलब्‍ध है।...

—————


ज्योतिष ---जन्म-राशि और व्यक्तित्व

जन्म-राशि और व्यक्तित्व (मिथुन-राशि)..

जन्म-राशि और व्यक्तित्व (मिथुन-राशि)..
 जन्म-राशि और व्यक्तित्व (मिथुन-राशि)..         मिथुन राशि का स्वामी बुध ग्रह है और यह वायु तत्व राशि है. मिथुन राशि का स्वरुप द्विस्वभाव है. बुध ग्रह को बुद्धि व वाणी का कारक माना जाता है. बुध जिस ग्रह के साथ होता है या जिस ग्रह के साथ बैठता है या जिस ग्रह का इस पर प्रभाव...

—————

जन्म-राशि और व्यक्तित्व (कर्क-राशि)..

जन्म-राशि और व्यक्तित्व (कर्क-राशि)..
 जन्म-राशि और व्यक्तित्व (कर्क-राशि)..           कर्क राशि का स्वामी चन्द्रमा है. इस राशि का तत्व जल है. कर्क राशि वाले निश्चय ही चन्द्र से प्रभावित व्यक्ति होते है. चन्द्रमा एक शीतल, सौम्य एवं शुभ ग्रह होता है. चंद्रमा का सबसे ज्यादा असर मनःस्थिति पर देखा जाता है....

—————

जन्म-राशि और व्यक्तित्व (सिंह-राशि)..

 जन्म-राशि और व्यक्तित्व (सिंह-राशि)..
 जन्म-राशि और व्यक्तित्व (सिंह-राशि)..             सिंह राशि का स्वामी “सूर्य” ग्रह है. सूर्य ग्रह राजसी होने के साथ साथ एक तेजस्वी औजयुक्त पौरुष का भी प्रतिनिधित्व करता है. इस राशि वाले व्यक्ति निर्भीक, उदार, एवं अभिमानी होते है. यह अग्नि तत्व राशि है....

—————

जन्म-राशि और व्यक्तित्व (कन्या-राशि)..

 जन्म-राशि और व्यक्तित्व (कन्या-राशि)..
 जन्म-राशि और व्यक्तित्व (कन्या-राशि)..         कन्या राशि का स्वामी “बुध” है. यह सूर्य का निकटवर्ती ग्रह है.यह पृथ्वी तत्व राशि है. इसका स्वरुप द्विस्वभाव होता है. इनका व्यक्तित्व आकर्षित होता है. शरीर दुबला, भौंहें घनी, सुन्दर शर्मीले स्वभाव के होते है. बुध ग्रह...

—————

जन्म-राशि और व्यक्तित्व (तुला-राशि)..

जन्म-राशि और व्यक्तित्व (तुला-राशि)..
 जन्म-राशि और व्यक्तित्व (तुला-राशि).   इस राशि का स्वामी “शुक्र” ग्रह है. शुक्र ऐश्वर्यशाली व विलासपूर्ण ग्रह होता है. इस राशि का तत्व वायु व स्वरुप चर(चलायमान), रजोगुण प्रधान, त्रिधातु प्रकृति होती है. पश्चिम दिशा की स्वामिनी है. इसका प्राकृतिक स्वभाव वृष तुल्य होते हुए भी...

—————

जन्म-राशि और व्यक्तित्व ---वृश्चिक-राशि

जन्म-राशि और व्यक्तित्व ---वृश्चिक-राशि
 जन्म-राशि और व्यक्तित्व (वृश्चिक-राशि)..  इस राशि का अधिपति “मंगल” ग्रह है. इस राशि का तत्व जल तथा स्वरुप स्थिर है. उत्तर दिशा का स्वामी है इसकी प्रकृति व स्वभाव सौम्य कफ प्रकृति है. मंगल तेजोमय व अग्नि तत्व प्रधान होता है. इस राशि के लोग मझोले कद के गठे हुए शरीर तथा खिलते हुए...

—————


ज्योतिष-मकर िंक्रा्डत

This list is empty.


Contact

Editor SHUBHAM JOSHI 91 79765 56860

Press & head Office –
‘SANTOSH VIHAR”
Chopasani village near resort marugarh
Jodhpur rajasthan

Phone no 0291-2760171




News

This section is empty.


Poll

क्या 'गहलोत' सरकार बचा लेंगे ?

हा
99%
1,428

नहीं
1%
12

मालूम नहीं
0%
5

Total votes: 1445


News

बैंसला जयपुर में, ठोस हल निकलने की उम्मीद

04/01/2011 18:12
 जयपुर। सरकारी नौकरियों में पांच फीसदी आरक्षण की मांग पर अड़े गुर्जर नेता किरोड़ी सिंह बैंसला आखिरकार सरकार से बातचीत के लिए आज शाम जयपुर पहुंच गए। सूत्रों के मुताबिक बैंसला ऊर्जा मंत्री डॉ. जितेन्द्र सिंह के आवास पर हैं। उनके साथ डॉ रूप सिंह, कैप्टन हरप्रसाद, एडवोकेट अतर सिंह, महेन्द्र सिंह खेड़ला आदि लोग भी मौजूद हैं। माना जा रहा है कि कर्नल बैंसला देर शाम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात करेंगे। सरकार और गुर्जरों के बीच होने वाली अगले दौर की वार्ता में सकारात्मक और ठोस हल निकलने की...

—————

All articles

—————


© 2011All rights reserved for Dwarkeshvyas